रविवार, 15 अप्रैल 2012 | By: हिमांशु पन्त

मेरा पहला हाइकु


सावन की खुशबु,
तेरा दीदार,
है यही इंतजार.
.

 

2 comments:

M VERMA ने कहा…

पहला पहला न रहे

Sunil Kumar ने कहा…

नया प्रयोग अच्छा हैं

एक टिप्पणी भेजें