सोमवार, 2 अप्रैल 2012 | By: हिमांशु पन्त

आइना

कहते हैं आइना दूसरी दुनिया का दरवाजा है..
मुझे ये दरवाजा बहुत खूबसूरत लगता था..
फिर एक दिन तुझको देखा किसी तदबीर मे..
और अब वो दुनिया कुछ अजीब लगती है..


कहते हैं आइना सब के सच दिखा देता है..
मुझे ये सच देखना बहुत पसंद आता था..
फिर एक दिन देखा तुझे किसी तकदीर में..
और अब वो सच्चाई कुछ अजीब लगती है.

कहते हैं आइना के रंग हजार होते हैं..
मुझे ये रंग बहुत रंगीन से लगते थे..
फिर एक दिन देखा तुझे किसी तस्वीर में..
और अब वो रंगीनियत कुछ अजीब लगती है..

1 comments:

एक टिप्पणी भेजें